उद्योग/व्यापार

PGP ग्लास में कंट्रोलिंग हिस्सेदारी बेच सकती है Blackstone, 2 अरब डॉलर का चाहती है वैल्यूएशन

प्राइवेट इक्विटी फर्म ब्लैकस्टोन (Blackstone), अब अपनी पूर्व स्वामित्व वाली कंपनी पीजीपी ग्लास प्राइवेट लिमिटेड (PGP Glass Pvt Ltd) में कंट्रोलिंग हिस्सेदारी बेचने पर विचार कर रही है। इस मामले से वाकिफ लोगों ने मनीकंट्रोल को यह जानकारी दी। इससे पहले ऐसी रिपोर्टें थी कि ब्लैकस्टोन इस कंपनी में 50 फीसदी तक हिस्सेदारी बेचने की तैयारी कर रही है। हालांकि अब जानकारी मिली है कि कंपनी 50 फीसदी से अधिक कंट्रोलिंग हिस्सेदारी बेचने पर विचार कर रही है। ब्लैकस्टोन ने साल 2020 में पीरामल ग्रुप से PGP ग्लास को खरीदा था।

एक सूत्र ने बताया, “उन्होंने शुरुआत में आंशिक हिस्सेदारी या 50 प्रतिशत हिस्सेदारी की बिक्री के साथ ज्वाइंट कंट्रोल रखने की योटजना बनाई थी। हालांकि अब वह कंट्रोलिंग हिस्सेदारी की बिक्री के लिए कुछ निवेशकों के साथ बातचीत भी कर रहे हैं। फिलहाल सभी विकल्प खुले हुए हैं। कुछ निवेशकों के साथ अल्पमत हिस्सेदारी की बिक्री के लिए बातचीत भी जारी है। अभी उन्होंने कोई रास्ता तय नहीं किया है। फैसला इस पर तय करेगा कि खरीदार क्या वैल्यूएशन ऑफर करते हैं।”

सूत्रों ने बताया कि ब्लैकस्टोन की योजना 2 अरब डॉलर से अधिक के वैल्यूएशन पर अपनी हिस्सेदारी को बेचने की है। ब्लैकस्टोन को भेजे गए ईमेल का खबर लिखे जाने तक कोई जवाब नहीं मिला था।

ब्लैकस्टोन ने साल 2020 में करीब 7,000 करोड़ रुपये के वैल्यूएशन पर पीरामल ग्रुप से कंपनी की 100 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी की। PGP ग्लास, ग्लास की मैन्युफैक्चरिंग और पैकेजिंग के कारोबार में है। कंपनी फार्मा, कॉस्मेटिक्स एंड परफ्यूम, बेवरेजेस और स्पेशियलिटी फूड्स सेक्टर को अपनी सेवाएं देती है। भारत में इसके दो मैन्युफैक्चरिंग प्लांट हैं, जो गुजरात के कोसांबा और जंबुसर में स्थित हैं। वहीं एक प्लांट श्रीलंका के होराना में है। कंपनी की भारत में मैन्युफैक्चरिंग क्षमता 1310 टन प्रति दिन और श्रीलंका में 300 टन प्रति दिन है।

केयर रेटिंग्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, PGP ग्लास का वित्त वर्ष 2023 में रेवेन्यू 34 फीसदी बढ़कर 3,799.28 करोड़ रुपये रहा, जो इसके पिछले वित्त वर्ष में 2,838.23 करोड़ रुपये था। हालांकि कंपनी का शुद्ध मुनाफा FY23 में घटकर 57.09 करोड़ रुपये पर आ गया, जो इसके पिछले वित्त वर्ष में 342.07 करोड़ रुपये था।

वित्त वर्ष 2024 के पहले 6 महीनों में कंपनी ने 1,984.7 करोड़ रुपये का रेवेन्यू और 114.7 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा दर्ज किया था।

यह भी पढ़ें- MOIL के शेयरों में 5% का उछाल, FY24 में रिकॉर्ड प्रोडक्शन के बाद जमकर खरीदारी

Source link

Most Popular

To Top