बड़ी खबर

Lok Sabha Elections 2024: पंजाब में AAP दिख रही मजबूत? ओपिनियन पोल में चौंकाने वाले आंकड़े

पंजाब की लोकसभा सीटों पर ओपिनियन पोल- India TV Hindi


पंजाब की लोकसभा सीटों पर ओपिनियन पोल

Lok Sabha Elections 2024 Opinion Poll: लोकसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। देश भर में चुनाव 7 चरणों में संपन्न होंगे। सभी सियासी पार्टियां चुनाव प्रचार-प्रसार में जुटी हुई हैं। बीजेपी इस बार 400 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा कर रही है। अगर पंजाब राज्य की बात करें तो यहां लोकसभा की 13 सीटें हैं। AAP सभी 13 सीटों चुनाव पर लड़ रही है। केजरीवाल ने वहां कांग्रेस से अलायंस नहीं किया। बीजेपी ने भी अकाली दल से अलायंस की बात तो की, लेकिन बात नहीं बनी। यानी पंजाब में हर पार्टी अलग-अलग चुनाव लड़ रही है। पंजाब को लेकर इंडिया टीवी का ओपिनियन पोल जारी हुआ है।

इंडिया टीवी के ओपिनियन पोल के मुताबिक, पंजाब में आम आदमी पार्टी 6 सीटों पर जीतते हुए दिख रही है। कांग्रेस 3 सीटों पर, बीजेपी 3 सीटों पर जबकि शिअद 1 सीट पर जीत दर्ज करती दिख रही है।








पंजाब 13 सीट
AAP  6 सीट
कांग्रेस  3 सीट
बीजेपी 3 सीट
SAD 1 सीट

 

पंजाब की राजनीति तीन प्रमुख क्षेत्रों– माझा, दोआब और मालवा में बंटा है। पश्चिम से पूर्व की ओर बढ़ने पर वर्तमान पंजाब का माझा क्षेत्र, रावी और ब्यास नदियों के बीच में पड़ता है। फिर दोआबा, दो नदियों (दो आब) के बीच की भूमि, का इलाका शुरू होता है, जो ब्यास नदी से शुरू होकर सतलुज नदी तक जाता है। सतलुज से परे का क्षेत्र मालवा कहलाता है।

 

माझा की तीन सीटें- गुरदासपुर, अमृतसर और खडूर साहिब का ओपिनियन पोल








माझा 3 सीट 
AAP  1
कांग्रेस 0
बीजेपी
SAD 0

 

गुरदासपुर: ये सीट अभी बीजेपी के पास है। इस बार दिनेश सिंह बब्बू को बीजेपी का टिकट मिला है। 2019 में यहां से बीजेपी के सनी देओल जीते थे। इस सीट से कांग्रेस के सुनील जाखड़, प्रताप सिंह बाजवा और बीजेपी के विनोद खन्ना सांसद रह चुके हैं। ओपिनियन पोल के मुताबिक, इस सीट पर एक बार फिर बीजेपी के पाले में आता दिख रहा है।

 

अमृतसर: दो बार से कांग्रेस के गुरजीत सिंह औजला सांसद हैं। 19 के चुनाव में औजला ने हरदीप सिंह पुरी को हराया था। अमृतसर सीट से नवजोत सिंह सिद्धू तीन बार बतौर सांसद जीत चुके हैं। बीजेपी ने इस बार तरणजीत सिंह संधू को टिकट दिया है। AAP ने कुलदीप सिंह धालीवाल को उतारा है। कांग्रेस ने अभी तक उम्मीदवार घोषित नहीं किया है। ओपिनियन पोल के मुताबिक ये सीट बीजेपी जीतती दिख रही है।

 

खडूर साहिब: 2019 में ये सीट कांग्रेस के जसबीर सिंह गिल ने जीती थी। इससे पहले दो बार ये सीट अकाली दल के पास थी। 24 में यहां कांग्रेस और अकाली दल दोनों पार्टियां पिछड़ गई हैं। आम आदमी पार्टी ने लालजीत सिंह भुल्लर को टिकट दिया है और वो रेस में आगे दिखते नजर आ रहे हैं। 

 

दोआब क्षेत्र की तीन सीटें- जालंधर, होशियारपुर और आनंदपुर साहिब का ओपिनियन पोल








दोआबा 3 सीट
AAP 0
कांग्रेस 2
बीजेपी 1
SAD 0

 

जालंधर (SC): कांग्रेस के लिए मजबूत गढ़ है। कांग्रेस यहां 15 बार जीत हासिल कर चुकी है, लेकिन ये चुनाव अलग है। 2023 के उपचुनाव में AAP के सुशील कुमार रिंकू जीते थे। जालंधर से AAP के सिटिंग एमपी सुशील रिंकू को पार्टी ने फिर टिकट दिया, लेकिन टिकट मिलने के बाद वो बीजेपी में शामिल हो गए और बीजेपी ने भी उनको जालंधर से टिकट दे दिया, लेकिन सुशील रिंकू जालंधर सीट जीतते नहीं दिख रहे हैं। ये सीट कांग्रेस के पाले में आते दिख रही है। हालांकि, कांग्रेस ने अभी तक यहां टिकट अनाउंस नहीं किया है। 

 

होशियारपुर (SC): 2019 में बीजेपी के सोम प्रकाश जीते। 2014 में बीजेपी के विजय सांपला सांसद रहे। इस सीट से 1996 में कांशीराम और 1980 में पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह भी सांसद रह चुके हैं। ओपिनियन पोल के मुताबिक, ये सीट बीजेपी फिर से जीतती दिख रही है।

 

आनंदपुर साहिब: मनीष तिवारी की सीट है। 2019 में कांग्रेस के मनीष तिवारी यहां से जीते। पंजाब की पार्टियों ने इस सीट से अभी तक उम्मीदवार नहीं दिया है, लेकिन ओपिनियन पोल के मुताबिक इस बार ये सीट फिर से कांग्रेस जीतती दिख रही है।

 

मालवा की 7 सीटें- लुधियाना, फतेहगढ़ साहिब, फरीदकोट, फिरोजपुर, बठिंडा, संगरूर और पटियाला का ओपिनियन पोल  








मालवा  7 सीट
AAP 5
कांग्रेस 1
बीजेपी  0
SAD 1

 

लुधियाना: दो बार से कांग्रेस के रवनीत सिंह बिट्टू सांसद हैं। चुनाव से ठीक पहले बिट्टू कांग्रेस से बीजेपी में चले गए। रवनीत सिंह बिट्टू पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के पोते हैं। 14 और 19 में कांग्रेस के टिकट पर जीते थे। राहुल गांधी के करीबी माने जाते थे। ओपिनियन पोल के मुताबिक, लुधियाना की इस सीट से कांग्रेस जीत दर्ज कर सकती है। 

 

फतेहगढ़ साहिब (SC): 2019 में कांग्रेस के डॉ. अमर सिंह जीते। 2014 में यहां AAP जीती थी। ओपिनियन पोल के मुताबिक, मालवा रीज़न की ये सीट आम आदमी पार्टी जीतती दिख रही है।

 

फरीदकोट (SC): मालवा की एक और सीट जो आम आदमी पार्टी जीत सकती है। बीजेपी के हंसराज हंस और AAP के करमजीत अनमोल में सीधी टक्कर दिख रही है। 2019 में यहां से कांग्रेस के मोहम्मद सादिक जीते। इस सीट से प्रकाश सिंह बादल एक बार और सुखबीर सिंह बादल तीन बार सांसद रहे हैं। ओपिनियन पोल के मुताबिक, ये सीट AAP जीत सकती है।

 

फिरोजपुर: सुखबीर सिंह बादल की सीट है। 6 बार से यहां अकाली दल के सांसद हैं। 2019 के चुनाव में सुखबीर बादल जीते थे। ओपिनियन पोल के मुताबिक, इस बार यहां से आम आदमी पार्टी जीत दर्ज कर सकती है। 

 

बठिंडा: शिरोमणि अकाली दल का मजबूत किला है। तीन बार से हरसिमरत कौर बादल सांसद हैं। AAP ने यहां से गुरमीत सिंह खुडियां को टिकट दिया है। बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल ने अभी कैंडिडेट अनाउंस नहीं किया है। ओपिनियन पोल के मुताबिक, एक बार फिर ये सीट अकाली दल के खाते में जा सकती है।

 

संगरूर: 2019 में इस सीट से भगवंत मान जीते थे, जो अभी पंजाब के मुख्यमंत्री हैं। AAP ने इस बार गुरमीत सिंह मीत हेयर को टिकट दिया है, जो पंजाब सरकार में मंत्री हैं। भगवंत मान के इस्तीफे के बाद हुए उपचुनावों में यहां से अकाली दल के सिमरनजीत सिंह मान जीते और सांसद बने। ओपिनियन पोल के मुताबिक, ये सीट AAP के खाते में जा सकती है।

 

पटियाला: यहां से परनीत कौर सांसद हैं। इस सीट से पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह भी सांसद रह चुके हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में गए तो परनीत कौर कांग्रेस में ही रह गई थीं। 24 के चुनाव से ठीक पहले परनीत कौर भी बीजेपी में शामिल हो गईं और बीजेपी ने उनको टिकट दे दिया। पटियाला की सीट 2014 में आम आदमी पार्टी ने जीती थी। ओपिनियन पोल के मुताबिक, एक बार फिर से ये सीट AAP जीत सकती है। AAP ने यहां से डॉ. बलवीर सिंह को टिकट दिया है। डॉ. बलवीर सिंह पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री हैं। 

Source link

Most Popular

To Top