राजनीति

LIVE: आज दिल्ली को मिलेगी नई मेयर या फिर होगा सदन में हंगामा? जानिए बड़े अपडेट्स – delhi mcd mayor election live bjp aap know every updates

Share If you like it

नई दिल्ली: आज दिल्ली की ‘छोटी सरकार’ यानी एमसीडी की मेयर चुनी जा सकती है। मेयर चुनाव को लेकर एमसीडी ने अपना एजेंडा तय कर दिया है। पीठासीन अधिकारी सत्या शर्मा ने कहा है कि मनोनित पार्षदों को ही सबसे पहले शपथ दिलाई जाएगी। इसके बाद ही बाकी चुने गए 249 पार्षदों का शपथ ग्रहण होगा। इसके पीछे उन्होंने तर्क दिया है कि इनकी संख्या सिर्फ 10 है। वहीं, चुने गए 249 पार्षदों के शपथ ग्रहण में काफी वक्त लगेगा। इसके लिए 10 पार्षदों को रोक कर रखना उचित नहीं है। उनका कहना है कि वह यह काम पूरी ईमानदारी के साथ करेंगी। पिछली बार की तरह परिस्थितियां न बने, इसके लिए उन्होंने म्युनिसिपल सेक्रेटरी और एमसीडी कमिश्नर को पहले से कह दिया है। उन्होंने अलग-अलग पार्टियों के पार्षदों और मनोनित पार्षदों से आग्रह किया है कि शपथ ग्रहण कार्यक्रम के दौरान शांति बनाए रखें। शपथ ग्रहण कार्यक्रम तय एजेंडे के अनुसार ही होगा।

दिल्ली पुलिस के 100 जवान रहेंगे तैनात
बता दें कि 6 जनवरी को मेयर चुनाव के दौरान जिस तरह से हंगामा और धक्कामुक्की हुई थी, वैसी घटनाएं दोबारा न हो इसके लिए इस बार चुनाव की तैयारियां एमसीडी ने पुख्ता की है। पहली बार मेयर चुनाव में दिल्ली पुलिस के करीब 100 जवानों को एंट्री गेट से लेकर सदन के बाहर तक तैनात किया जाएगा। अगर जरूरत पड़ी तो जवानों को सदन के अंदर भी बुलाया जा सकता है। हालात को काबू में रखने के लिए एमसीडी अफसर इस बार सिर्फ मार्शलों के भरोसे नहीं रहना चाहते हैं।
Delhi Mayor Election LIVE: आज दिल्ली को मिल जाएगी मेयर? एमसीडी की बैठक में मिलेगा जवाब
नेताओं और पार्षदों के समर्थकों को एंट्री नहीं
सदन के अंदर और सिविक सेंटर में सिर्फ उन लोगों को ही एंट्री दी जाएगी, जिनकी जरूरत है। यानी जिन लोगों को शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेना है, उन्हें ही एंट्री मिलेगी। सीमित संख्या में लोगों की एंट्री देने और अंदर के हालात पर काबू रखने के लिए एमसीडी ने इस बार दिल्ली पुलिस के जवानों को नियुक्त करने की मांग की है। पुलिस के करीब 100 जवान नियुक्त किए जाएंगे। मीडिया कर्मियों की संख्या भी इस बार सीमित की गई है। इनके लिए अलग से पास जारी किए गए हैं। जिनके पास एमसीडी द्वारा जारी पास होंगे, वही अंदर जा सकते हैं।

आज भी हो सकता है हंगामा
जिन मुद्दों पर 6 जनवरी को मेयर चुनाव के दौरान हंगामा हुआ था, वह मुद्दे मंगलवार को होने वाले मेयर चुनाव में भी बरकरार हैं। एल्डरमैन के शपथ ग्रहण पर सत्ता और विपक्ष दोनों ही पीछे हटने को तैयार नहीं है। सत्ता और विपक्ष के पार्षदों और नेताओं के टकराव को देखते हुए ही इस बार पुख्ता तैयारियां की गई हैं। बीजेपी सूत्रों का कहना है कि यह कोशिश होगी कि पिछली बार मेयर चुनाव कार्यक्रम जहां से स्थगित किया गया था, मंगलवार को वहीं से शुरू किया जाए। यानी मनोनीत पार्षदों को पहले शपथ दिलाई जाए। अगर मनोनित पार्षदों का शपथ ग्रहण कार्यक्रम किसी वजह से टल जाता है तो यह संभव है कि लंबे समय तक उनकी शपथ न हो। इसका असर स्थायी समिति के चेयरमैन चुनाव पर भी पड़ेगा। मनोनीत पार्षदों को मिलाकर 12 में से 7 जोन में बीजेपी मजबूत स्थिति में है और चेयरमैन चुनाव में उनकी भूमिका निर्णायक है। आम आदमी पार्टी स्थायी समिति की कमान अपने हाथ से निकलने नहीं देना चाहती। माना जा रहा है कि इसीलिए आप को मेयर चुनाव के दौरान मनोनीत पार्षदों की शपथ पर ऐतराज है।
चंडीगढ़ के मेयर बने अनूप गुप्ता, महज 1 वोट से हारे आप के जसबीर सिंह… जानें कैसे बीजेपी ने किया खेला
आप का दावा पहले चुने हुए पार्षद लेंगे शपथ
आज होने वाले मेयर, डिप्टी मेयर और स्थायी समिति के सदस्यों के चुनाव के लिए एमसीडी की तरफ से जारी की गई कार्य सूची पर आम आदमी पार्टी ने सहमति जताई है। वहीं आम आदमी पार्टी के विधायक और एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने सोमवार को पार्टी दफ्तर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी एमसीडी की कार्य सूची से पूरी तरह सहमत है। 24 जनवरी को होने वाली सदन की बैठक में हमारे सभी पार्षद कार्य सूची का पालन करते हुए बैठक में भाग लेंगे। सदन में सबसे पहले चुने हुए पार्षदों का और फिर मनोनीत पार्षदों का शपथ ग्रहण होगा। उसके बाद मेयर, डिप्टी मेयर और अंत में स्थायी समिति के 6 सदस्यों का चुनाव होगा। हम इस कार्य सूची से पूरी तरह संतुष्ट हैं। बीजेपी से विनती है कि वह भी इस कार्य सूची का पालन करते हुए चुनाव प्रक्रिया में पूरी तरह से सहयोग करे।
Hisar Zila Parishad Chunav: जिला परिषद चेयरमैन चुनाव जीतने के लिए BJP ने मिलाया कांग्रेस से हाथ, JJP का कर दिया काम तमाम
आप सदन में कर सकती है विरोध
पाठक ने कहा कि आज एमसीडी ने भी यह माना है कि आम आदमी पार्टी बिल्कुल सही थी। उसी आधार अब नई कार्य सूची जारी की गई है। हम दिल्ली की जनता को भरोसा दिलाते हैं कि आम आदमी पार्टी इस कार्य सूची में लिखे एक-एक शब्द का पालन करेगी। हालांकि, पिछले हफ्ते विधानसभा में हुई चर्चा के दौरान डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने साफ कहा था कि अगर मेयर चुनाव के संविधान के मुताबिक काम होगा, तो आम आदमी पार्टी के पार्षद शांति से काम करेंगे, लेकिन अगर संविधान को तोड़ने की कोशिश की गई, तो हमारे पार्षद किसी भी कीमत पर ऐसा नहीं होने देंगे। पार्टी सूत्रों का कहना है कि अगर मेयर चुनाव में मनोनीत पार्षदों से वोटिग कराने की कोशिश की गई, तो आम आदमी पार्टी उसका कड़ा विरोध करेगी।

Source link

Most Popular

To Top

Subscribe us for more latest News

%d bloggers like this: