उद्योग/व्यापार

BJP Manifesto: बीजेपी के चुनावी घोषणा पत्र में ‘इंडिया’ की जगह ‘भारत’ शब्द का ज्यादा इस्तेमाल

BJP Manifesto: 14 अप्रैल को जारी भारतीय जनता पार्टी के ‘संकल्प पत्र’ (BJP Sankalp Patra) में ‘इंडिया’ की जगह ‘भारत’ और ‘इंडियन’ की जगह ‘भारतीय’ शब्द को ज्यादा इस्तेमाल किया गया है। केंद्र सरकार भी ‘इंडिया’ पर ‘भारत’ शब्द के इस्तेमाल को इन दिनों ज्यादा प्राथमिकता दे रही है। कुछ बीजेपी नेताओं का, तो यहां तक ​​कहना है कि “इंडिया” नाम देश के गुलामी के अतीत का अवशेष है। लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जो घोषणापत्र जारी किया था, उसमें इंडिया और इंडियन की जगह ‘भारत’ और ‘भारतीय’ शब्द की भरमार है।

उदाहरण के लिए, भारत को शादियों के वैन्यू के रूप में बढ़ावा देने की अपने वादे में, BJP के घोषणापत्र में कहा गया है, “हम भारतीय शादियों की समृद्धि को प्रदर्शित करने, जीवंत परंपराओं को उजागर करने और सांस्कृतिक आदान-प्रदान का समर्थन करने के लिए पूरे भारत में चुनिंदा स्थलों को पसंदीदा जगहों के रूप में बढ़ावा देंगे।”

इसी तरह के उदाहरण 69 पन्नों के संकल्प पत्र (BJP Manifesto) में साफ दिखा, जिसका अनावरण नई दिल्ली में बीजेपी मुख्यालय में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में किया गया था। हालांकि, BJP के घोषणापत्र में “इंडिया” शब्द भी शामिल था, लेकिन इसके मुकाबले “भारत” शब्द ज्यादा जगहों पर इस्तेमाल किया गया है।

भारत Vs इंडिया विवाद

‘भारत’ बनाम ‘इंडिया’ की बहस पिछले कुछ समय से भारत में सार्वजनिक चर्चा पर हावी रही है। BJP सरकारी और आधिकारिक संचार में ‘भारत’ के इस्तेमाल के बारे में साफ रही है।

RSS लंबे समय से इंडिया के ऊपर भारत के इस्तेमाल को विशेषाधिकार देने की मांग करता रहा है। हालांकि, ये बहस तब ज्यादा तेज हो गई, जब से विपक्षी गुट ने अपने गठबंधन का नाम INDIA दिया। बीजेपी के चुनावी घोषणापत्र में ‘भारत’ और ‘भारतीय’ शब्दों के असर साफ दिखता है।

अंतराष्ट्रीय मंचों पर भी ‘भारत’

प्रधानमंत्री ASEAN-भारत शिखर सम्मेलन जैसे अंतरराष्ट्रीय मंचों पर ‘भारत’ को लोकप्रिय बना रहे हैं। घरेलू स्तर पर, उन्होंने मंत्रियों से ‘इंडिया बनाम भारत’ बहस से दूर रहने को कहा है।

इसे मुगल और ब्रिटिश काल से जुड़े शहरों और जगहों का नाम बदलने के सत्तारूढ़ दल की कोशिशों के रूप में भी देखा जा सकता है। उदाहरण के लिए, नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में स्थित मुगल गार्डन का नाम बदलकर अमृत उद्यान कर दिया गया।

क्या इंडिया होगा भारत?

मोदी के नेतृत्व वाली सरकार देश का आधिकारिक नाम बदलकर ‘भारत’ करने के लिए एक बड़े बदलाव पर विचार कर रही है।

इस बदलाव ने तब जोर पकड़ लिया, जब आधिकारिक G20 डिनर निमंत्रणों में पारंपरिक ‘प्रेसिडेंट ऑफ इंडिया’ के बजाय ‘प्रेसिडेंट ऑफ भारत’ का टाइटल दिया गया। तब से ये बहस और ज्यादा तेज हो गई थी।

पिछले कुछ समय से, केंद्र की बीजेपी सरकार ने कुछ आधिकारिक संचार और दस्तावेजों में इंडिया के बजाय भारत का इस्तेमाल करने का निर्णय लिया है।

BJP Manifesto: मुफ्त की रेवड़ी नहीं, मोदी की गारंटी… कांग्रेस और BJP के घोषणापत्र में कितना अंतर, समझें यहां

Source link

Most Popular

To Top