विश्व

हेती: गैंग हिंसा में तेज़ी, पुलिस पर भीषण दबाव और अवरुद्ध विकास

Share If you like it

देश में यूएन की शीर्ष अधिकारी हेलेन लाल लिम ने मंगलवार को कहा मौजूदा घटनाक्रम के कारण, आम नागरिक, देश को फिर से लोकतंत्र के रास्ते पर वापिस लाने के लिए जूझ रहे हैं.  

विशेष प्रतिनिधि ला लिम ने 15 सदस्य देशों वाली सुरक्षा परिषद में प्रतिनिधियों को जानकारी देते हुए बताया कि वर्ष 2022 में 2,100 से अधिक हत्याओं और 1,300 अपहरण की घटनाएँ हुई हैं.

देश में गैंग हिंसा जिस स्तर पर पहुँच गई है, वैसा पिछले अनेक दशकों में नहीं देखा गया, विशेष रूप से दो गुटों, G9 और G-Pep के बीच अनेक इलाक़ों में हिंसा अभूतपूर्व स्तर पर है.

“यह हिंसा इलाक़ों पर अपने नियंत्रण का विस्तार करने और आबादियों को अपने आधीन करने के लिए सोच-समझ कर बनाई गई रणनीति का हिस्सा है.”

विशेष प्रतिनिधि के अनुसार छतों पर छुप कर बैठे लोग, महिलाओं, पुरुषों व बच्चों को अपनी गोलियों का निशाना बना रहे हैं और अनेक को जान से मार दिया गया है.

क्रूर तौर-तरीक़े

बड़ी संख्या में महिलाओं व बच्चों का बर्बर ढँग से बलात्कार किया गया है, जिनमें से कुछ पीड़ितों की आयु 10 वर्ष भी है.

विशेष प्रतिनिधि ला लिम ने ऐसी घटनाओं को विरोधी गैंग के नियंत्रण वाले इलाक़ों में समुदायों के सामाजिक ताने-बाने को बर्बाद करने और भय फैलाने की कोशिश बताया है.

उन्होंने कहा कि आपराधिक गुटों द्वारा पूरी आबादी की घेराबन्दी की गई है और लोगों के लिए भोजन, जल व स्वास्थ्य सेवाओं की सुलभता को अवरुद्ध कर दिया गया है.

पहले से ही अत्यधिक निर्धनता का शिकार आमजन, विस्थापन के लिए मजबूर हो रहे हैं.

बताया गया है कि हेती में लगभग 50 लाख लोगों को भरपेट भोजन नहीं मिल पा रहा है. अधिकाँश स्कूलों में अब पढ़ाई शुरू हो गई है, लेकिन हज़ारों बच्चों अब भी पढ़ाई से वंचित हैं, विशेष रूप से गैंग प्रभावित इलाक़ों में.

समर्थन की दरकार

इस पृष्ठभूमि में, विशेष प्रतिनिधि ने हेती राष्ट्रीय पुलिस की सहायता के लिए अन्तरराष्ट्रीय विशेषीकृत बल को तैनात किए जाने का आग्रह किया है.

हेती की सरकार ने विशेषीकृत बल की तैनाती के लिए अक्टूबर 2022 में पहली बार अनुरोध किया था, मगर यह अभी तक मूर्त रूप नहीं ले पाया है.

“हेती में आम लोगों को इस सहायता की बहुत आवश्यकता है, ताकि वे शान्ति के साथ अपनी दैनिक गुज़र-बसर कर सकें.”

हेलेन ला लिम ने इस वर्ष दिसम्बर में सुरक्षा परिषद को जानकारी दी थी कि सरकारी निवेश के बावजूद, हेती की राष्ट्रीय पुलिस को पर्याप्त संसाधन उपलब्ध नहीं हैं, और देश के समक्ष मौजूद विकराल चुनौतियों से निपटने में वो फ़िलहाल पूर्ण रूप से सक्षम नहीं है.

नई प्रतिबन्ध व्यवस्था

विशेष प्रतिनिधि ने सुरक्षा परिषद द्वारा प्रतिबन्धों की एक नई व्यवस्था को पारित किए जाने और नए द्विपक्षीय पाबन्दियों का स्वागत किया है.

इस व्यवस्था के तहत आपराधिक गतिविधियों और सशस्त्र गुटों की हिंसा का समर्थन करने वालों पर पाबन्दी लगाई जाएगी.

उन्होंने फ़रवरी 2024 तक देश में महत्वपूर्ण चुनाव आयोजित कराए जाने की दिशा में क़दम-दर-क़दम हो रही प्रगति की सराहना की है.

विशेष प्रतिनिधि ने ज़ोर देकर कहा कि हेती को यह देखने की आवश्यकता है कि प्रभावशील व नेतृत्व पदों पर बैठे व्यक्ति तत्काल अपने मतभेदों को दरकिनार करें, और देश में जायज़ राज्यसत्ता संस्थाओं की बहाली में अपनी भूमिका का निर्वहन करें.

Source link

Most Popular

To Top

Subscribe us for more latest News

%d bloggers like this: