राजनीति

कन्नौज लोकसभा सीट: अपना गढ़ बचाने के लिए खुद उतर सकते हैं अखिलेश यादव

Kannauj Lok Sabha- India TV Hindi

Image Source : INDIA TV
कन्नौज लोकसभा चुनाव 2024

उत्तर प्रदेश का कन्नौज लोकसभा क्षेत्र पूरे सूबे की सबसे हाई प्रोफाइल सीटों में से एक है। इस सीट पर पहले समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव, फिर उनके बेटे अखिलेश यादव और फिर उनकी पत्नी डिंपल यादव का सांसद बनी हैं। लेकिन साल 1988 से चला आ रहा सपा की जीत का विजयरथ पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने रोक दिया था। 

इस कन्नौज में पहली बार 1967 में लोकसभा के चुनाव हुए थे और यहां से पहली बार डॉ. राम मनोहर लोहिया सांसद बने थे। इस सीट पर 2000, 2004 और 2009 का चुनाव जीतकर अखिलेश यादव ने हैट्रिक मारी थी। बीजेपी के सुब्रत पाठक यहां से वर्तमान सांसद हैं। बता दें कि कन्नौज एक प्राचीन नगरी है और कभी हिंदू साम्राज्य की राजधानी के रूप में प्रतिष्ठित रहा है। कन्नौज लोकसभा में विधानसभा की कुल पांच सीटें आती हैं- छिबरामऊ, तिर्वा, कन्नौज सदर, बिधूना, रसूलाबाद इनमें शामिल हैं।

कन्नौज का जातीय समीरण

कन्नौज की कुल जनसंख्या 16,56,616 है, जिनमें पुरुषों की संख्या 8,81,776 है जबकि महिलाओं की संख्या 7,74,840 है। यहां की साक्षरता दर 72.70% है। कन्नौज में विशेष तौर पर मुस्लिम, दलित और यादव वोट बैंक प्रमुख है। यहां तीन लाख मुसलमान रहते हैं। मुस्लिम इस सीट पर 16 फीसदी हैं, यादव भी करीब 16 फीसदी,  ब्राहम्ण 15 प्रतिशत, राजपूत 10 प्रतिशत और अन्य जातियां 39 फीसदी हैं। 2019 के चुनाव में भाजपा को यहां से दलितों और यादवों को वोट ज्यादा मिला था। कन्नौज की 83 प्रतिशत आबादी हिंदू है।

2019 लोकसभा चुनाव के परिणाम

कन्नौज के लिए पिछला चुनाव ऐतिहासिक रहा है, क्योंकि 2019 में बीजेपी ने पिछले 3 दशकों से चला आ रहा समाजवादी पार्टी का सिलसिला तोड़ा था। 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के सुब्रत पाठक को 563087 वोट मिले थे। वहीं उनकी निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा की डिंपल यादव को 550734 मत मिले थे। हाई प्रोफाइल कन्नौज सीट पर 11,40,985 मतदाताओं ने वोट डाला था। बीजेपी के सुब्रत ने सपा की डिंपल को करीब 12 हजार वोटों से हराया था।

पार्टी प्रत्याशी वोट नतीजा
बीजेपी सुब्रत पाठक 563087 जीत
सपा डिंपल यादव 550734 हार

2014 लोकसभा चुनाव का नतीजा

उत्तर प्रदेश की कन्नौज लोकसभा सीट से 2014 में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव सांसद बनी थीं। साल 2012 के बाद डिंपल यहां से दोबारा सांसद बनी थीं। 2014 में सपा ने यहां भाजपा के सुब्रत पाठक को 19907 वोटों से हराया था। 2014 में कन्नौज सीट पर 18,08,886 मतदाताओं ने हिस्सा लिया था। 2014 में यहां नंबर 2 पर भाजपा, नंबर 3 पर बसपा रही थी। 

पार्टी प्रत्याशी वोट नतीजा
सपा डिंपल यादव 489164 जीत
बीजेपी सुब्रत पाठक 465257 हार

 

Latest India News

Source link

Most Popular

To Top