उद्योग/व्यापार

एक माली को विरासत में मिलने वाला है 11 अरब डॉलर का Hermès साम्राज्य, बेहद ही दिलचस्प है ये कहानी

Hermès के फाउंडर थियेरी हर्म्स (Thierry Hermès) के अरबपति पोते निकोलस प्यूक (Nicolas Puech) ने कहा कि वह उत्तराधिकार की दिलचस्प योजना बना रहे हैं। इसके तहत वह 51 साल के माली को गोद लेंगे। इस हैरतअंगेज प्लान के कारण वह माली एक झटके में करोड़पति बन गया है। प्यूक के बाद 10.3-11.4 अरब डॉलर के बीच एसेट्स हैं। माली को गोद लेने के बाद उनकी संपत्ति का एक हिस्सा माली के पास चला जाएगा।

Tribune de Genève की रिपोर्ट के अनुसार, दो बच्चों वाली एक स्पेनिश महिला से शादी करने वाले इस माली के नाम का अभी खुलासा नहीं हुई है। इसे 80 साल के प्यूक की संपत्ति का एक अहम हिस्सा विरासत में मिलेगा।

इटालियन आउटलेट Sky TG2424 के अनुसार, प्यूक ने पहले ही अपने माली को मार्राकेश, मोरक्को और मॉन्ट्रो, स्विट्जरलैंड में प्रॉपर्टी की चाबियां सौंप दी हैं, जिनकी कुल कीमत 55 लाख यूरो या 59 लाख डॉलर है।

Hermès के साथ प्यूक का तनावपूर्ण इतिहास रहा है। खासतौर से तब, जब फैशन प्रतिद्वंद्वी LVMH ने दुश्मनी के चलते ब्रांड के अधिग्रहण को कोशिश की, जिसके बाद 2014 में कंपनी के सुपरवाइजरी बोर्ड से उनका प्रस्थान हो गया।

ऐसा लगता है कि अधिग्रहण का विरोध करने के लिए एक होल्डिंग कंपनी की स्थापना करने वाले परिवार के सदस्यों के साथ झगड़े ने प्यूक की उत्तराधिकारी की अपरंपरागत पसंद को प्रभावित किया है।

लखनऊ में मौजूद SAHARA का हॉस्पिटल खरीदेगी Max Healthcare, 125 करोड़ रुपये में हुई डील

UBS की एक स्टडी में बताया गया कि आने वाले दशकों में कई अरबपति कुछ इसी तरह अपनी संपत्ति को ट्रांसफर करने की योजना बना रहे हैं और प्यूक के इस फैसले में भी कुछ ऐसा ट्रेंड दिखता है।

जहां कई लोग पारंपरिक रास्ते चुनते हैं, कोई अपनी संतान या परोपकारी कामों के लिए अपना सब कुछ दान कर देता है, तो वहीं प्यूक अपने नजदीकी दायरे के बाहर से किसी और को चुनकर ले आए हैं।

हालांकि, प्यूक को अपनी इस अपरंपरागत योजना को साकार करने में कई चुनौतियों का भी सामना करना पर रहा है। वयस्कों को गोद लेना, खासतौर से स्विट्जरलैंड में जहां वह रहता है, काफी दुर्लभ हैं और जटिल है।

Ch.ch के अनुसार, एक वयस्क दूसरे वयस्क को गोद ले सकता है, अगर वे कम से कम एक साल तक एक साथ रहे हों और वो भी तब जब गोद लेने वाला नाबालिग रहा हो।

फाउंडेशन के महासचिव, निकोलस बोर्सिंगर, प्यूक की योजना को “उत्तराधिकार समझौते का अचानक और एकतरफा कैंसिलेशन” मानते हैं, जो संभावित रूप से एक कानूनी लड़ाई को जन्म दे सकता है।

प्यूक की शादी नहीं हुई और उनकी कोई संतान भी नहीं है। वह स्विट्जरलैंड के सबसे अमीर लोगों में शुमार हैं।

Source link

Most Popular

To Top