उद्योग/व्यापार

एक महीने में 31% रिटर्न देने वाली कंपनी के साथ जुड़ी एक और उपलब्धि, 10 करोड़ लोगों को दे रही सेवाएं

सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज लिमिटेड (CDSL) ने बुधवार 22 नवंबर को कहा कि उसने 10 करोड़ से अधिक डीमैट खातों को पंजीकृत करने की एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल कर ली है। कंपनी ने कहा, “सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज (इंडिया) लिमिटेड एशिया की पहली और एकमात्र सूचीबद्ध डिपॉजिटरी है। हमें एक और मील का पत्थर हासिल करने की घोषणा करते हुए काफी खुशी है।” अब दस करोड़ (100 मिलियन) से अधिक डीमैट खाते CDSL के साथ पंजीकृत हैं।” CDSL ने फरवरी 1999 में अपना कारोबार शुरू किया था। यह सिक्योरिटीज को इलेक्ट्रॉनिक रूप में रखने और लेनदेन की सुविधा प्रदान करती है।

कंपनी इसके साथ स्टॉक एक्सचेंजों पर ट्रेड के सेटलमेंट की सुविधा भी मुहैया कराती है। इसके प्रमुख शेयरधारकों में बीएसई (BSE), स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक, PPFAS म्यूचुअल फंड, एलआईसी और केनरा बैंक हैं। कंपनी देश भर में फैले निवेशकों या बेनिफिशयल ओनर्स (BO) के 10 करोड़ से अधिक डीमैट खातों का रखरखाव और सेवा करती है। इन BO को 20,000 से अधिक जगहों से CDSL के 580 से अधिक डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स की ओर से सेवाएं मुहैया कराई जाती हैं।

CDSL की सहायक कंपनियों में से एक CDSL वेंचर्स भी शामिल है। यह देश की पहली और सबसे बड़ी केवाईसी पंजीकरण एजेंसी है। 2008 में कारोबार शुरू करने के बाद से अब तक इसके 4.5 करोड़ से अधिक रिकॉर्ड हैं। इसके अलावा CDSL बीमा रिपॉजिटरी और सीडीएसएल कमोडिटी रिपोजिटरी भी इसकी सहयोगी कंपनियां हैं।

यह भी पढ़ें- Gopal Snacks IPO : FMCG कंपनी लाएगी 650 करोड़ का आईपीओ, SEBI में दाखिल किए कागजात

2008 के बाद से 4.5 करोड़ से अधिक रिकॉर्ड के साथ पहली और सबसे बड़ी केवाईसी पंजीकरण एजेंसी है; सीडीएसएल बीमा रिपॉजिटरी और सीडीएसएल कमोडिटी रिपोजिटरी।

इस बीच CDSL के शेयर बुधवार को एनएसई पर 0.41 फीसदी गिरकर 1,717.95 रुपये के भाव पर बंद हुए। पिछले एक महीने में 31.43% फीसदी की तेजी आई है। वहीं इस साल 2023 में इसके शेयरों का भाव करीब 48.64% फीसदी बढ़ा है। पिछले एक साल में इसने 41.45 फीसदी का रिटर्न दिया है।

Source link

Most Popular

To Top