केरल

असहिष्णुता झेली.. मोदी का साथ देने वाले एके एंटनी के बेटे ने छोड़ी कांग्रेस, BBC Documentary से क्या कनेक्शन? – congress leader ak antony son anil antony quits party day after bbc documentary on modi support

Share If you like it

तिरुवनंतपुरम: कांग्रेस नेता एके एंटनी के बेटे अनिल के एंटनी ने बुधवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने मंगलवार को ही ट्वीट करके बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर रोक को लेकर बीजेपी सरकार का समर्थन किया था। उन्होंने ट्वीट में दावा किया था कि भारतीय संस्थानों पर बीबीसी के विचारों को रखना भारत की संप्रभुता को कमजोर करेगा। कांग्रेस की तरफ से उनके ऊपर ट्वीट को हटाने का दबाव पड़ रहा था। इसी के चलते उन्होंने पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। अब कहा जा रहा है कि अनिल के एंटनी बीजेपी में जा सकते हैं। उन्होंने बुधवार को ट्वीट करके खुद अपने इस्तीफे की जानकारी दी।

अनिल एंटनी, जो केरल कांग्रेस के आईटी विंग के प्रमुख हैं, उन्होंने पहले ट्वीट किया था, ‘बीजेपी के साथ बड़े मतभेदों के बावजूद, मुझे लगता है कि भारत में बीबीसी के विचार रखते हैं, भारत के पूर्वाग्रहों के एक लंबे इतिहास के साथ एक (यूके) राज्य प्रायोजित चैनल, और जैक स्ट्रॉ इराक युद्ध के पीछे का दिमाग, भारतीय संस्थानों पर एक खतरनाक मिसाल कायम कर रहा है, हमारी संप्रभुता को कमजोर करेगा।’

BBC Documentary: रोक के बावजूद केरल और हैदराबाद की यूनिवर्सिटी में दिखाई गई बीबीसी डॉक्यूमेंट्री, गहराया विवाद

‘इस्तीफा देने को मजबूर’

अनिल के एंटनी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर उनके ट्वीट के हटाने पर इसे असहिष्णुता बताया। उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटों में बहुत कुछ हुआ, जिसने उन्हें पार्टी से इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया।

केरल कांग्रेस ने डॉक्यूमेंट्री के प्रसारण का किया है ऐलान

अनिल के एंटनी ने कहा था कि हमारे बीच चाहे जो भी आंतरिक मतभेद हों, हमें इस देश में विभाजन पैदा करने के लिए बाहरी एजेंसियों द्वारा शोषण नहीं करने देना चाहिए अनिल के एंटनी की टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब केरल कांग्रेस के कई नेताओं ने घोषणा की कि पूरे केरल में वृत्तचित्र की स्क्रीनिंग की जाएगी।

सरकार ने लगाई है रोक

2002 के गुजरात दंगों पर बीबीसी ने दो पार्टी में इस डॉक्यूमेंट्री को बनाया है। विदेश मंत्रालय ने इसकी आलोचना की है। सरकार ने इसे निष्पक्षता की कमी और एक औपनिवेशिक मानसिकता को दर्शाने वाला एक प्रचार टुकड़ा कहा। पिछले हफ्ते, केंद्र ने डॉक्यूमेंट्री के लिंक साझा करने वाले कई YouTube वीडियो और ट्विटर पोस्ट को ब्लॉक करने का निर्देश दिया था।

हालांकि, केंद्र के कदम को कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस ने सेंसरशिप लगाने के रूप में खारिज कर दिया था। यहां तक कि राहुल गांधी ने जम्मू में अपनी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के दौरान फिल्म को सेंसर करने के केंद्र के कदम पर सवाल उठाया।

Source link

Most Popular

To Top

Subscribe us for more latest News

%d bloggers like this: